Home News Amit Shah Interview: Home Minister Amit Shah Interview On India-China Faceoff And...

Amit Shah Interview: Home Minister Amit Shah Interview On India-China Faceoff And Coronavirus Pandemic | गृह मंत्री अमित शाह बोले

0
0

नई दिल्ली: देश इस वक्त कोरोना संकट के दौर से गुजर रहा है. लगभग सभी राज्य इस जानलेवा महामारी की चपेट में हैं. ऐसे में चीन के साथ सीमा विवाद ने दोहरी मुसीबत पैदा कर दी है. चीन के बहकावे में आकर नेपाल ने भी अलग रुख अख्तियार कर लिया है. ऐसे में विपक्ष केंद्र सरकार पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा है. इन्हीं सबके बीच गृह मंत्री अमित शाह ने इंटरव्यू दिया है. गृह मंत्री ने कोरोना वायरस और सीमा पर तनाव समेत तमाम मुद्दों पर खुलकर बात की है.

अमित शाह ने कहा कि ”जून के दूसरे सप्ताह में दिल्ली डिप्टी सीएम ने बयान दिया कि 31 जुलाई तक दिल्ली में 5.5 लाख कोरोना के मामले होंगे, इससे दिल्ली की जनता में बहुत भय आया. दिल्ली सरकार ने कहा कि दिल्ली के बाहर के लोगों का दिल्ली में इलाज नहीं होगा, इस निर्णय को केंद्र सरकार ने बदला.” शाह ने कहा कि ”आज दिल्ली में ऐसी कोई स्थिति (कम्यूनिटी ट्रांशमिशन) नहीं है, चिंता करने की आवश्यकता नहीं है.”

शाह ने कहा कि ”मैंने 14 तारीख को कॉर्डिनेशन की बैठक की. दिल्ली सरकार, एमसीडी और भारत सरकार के बीच समन्वय के लिए ये बैठक जरूरी थी. भारत सरकार इसमें बहुत मदद कर सकती है. कई विशेषज्ञों की मदद ली जा सकती है. इसलिए कोरोना के खिलाफ व्यापक अभियान के लिए हमने ये बैठक की.” उन्होंने कहा, ”आज मैं कह सकता हूं कि दिल्ली के डिप्टी सीएम का जो 5.5 लाख कोरोना केस वाला बयान था, वो स्थिति अब दिल्ली में नहीं आएगी.”

हमने दिल्ली सरकार को तत्काल 500 ऑक्सीजन सिलेंडर दिए- शाह

गृह मंत्री ने कहा, ”दिल्ली में 30 जून तक कंटेनमेंट जोन के हर घर का सर्वेक्षण हो जाएगा. हमने टेस्टिंग को काफी बढ़ाया है. बाद में दिल्ली में घर-घर सर्वेक्षण किया जाएगा. हमने दिल्ली सरकार को तत्काल 500 ऑक्सीजन सिलेंडर, 440 वेंटिलेटर दिए हैं. एंबुलेंस के लिए दिल्ली सरकार को कहा है कि प्राइवेट कंपनियों के साथ मिलकर आप इनकी जरूरत पूरी कर सकते हैं. आने वाले समय में और मदद भी दिल्ली सरकार को दी जाएगी.

एम्स से टेलीफोनिक गाइडेंस की व्यवस्था की- अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि ”दिल्ली में अस्पतालों की स्थिति ठीक करने के लिए एम्स से टेलीफोनिक गाइडेंस की व्यवस्था की. डेडिकेटेड नंबर पर कॉल करने पर एम्स के डॉक्टर गाइंडेंस देते हैं. हमने 3 टीमों का गठन किया, जिसमें दिल्ली सरकार के और एम्स के डॉक्टर हैं, और आईसीएमआर के विशेषज्ञ हैं. उन्होंने सभी जगह की कमियों को ठीक करने का हर प्रयास किया है.” उन्होंने कहा, ”कोरोना को लेकर में मैंने NCR की बैठक की है. अरविंद केजरीवाल जी को लूप में रखकर उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की जाएगी और एनसीआर के लिए समन्वित रणनीति हम बनाएंगे. टेस्टिंग बढ़ाना और अन्य व्यवस्थाओं को बढ़ाने का काम एनसीआर में भी किया जाएगा.”

दिल्ली में टेस्ट बढ़ रहे हैं- होम मिनिस्टर

होम मिनिस्टर ने कहा कि मैं कुछ भी छिपाना नहीं चाहता हूं. मैंने तीन सबसे वरिष्ठ अधिकारियों से बात की है. दिल्ली में अभी कम्यूनिटी संक्रमण वाली स्थिति नहीं आई है. अब जब दिल्ली में टेस्ट बढ़ रहे हैं तो औसतन हम कह सकते हैं कि दिल्ली में ये स्थिति नहीं है.

राहुल गांधी को मैं सलाह नहीं दे सकता- अमित शाह

शाह ने कहा कि कोरोना के खिलाफ भारत सरकार सही से लड़ी है. राहुल गांधी को मैं सलाह नहीं दे सकता. विश्व के परिपेक्ष में हमारे देश के आंकड़ें बहुत अच्छे हैं. नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत में कोरोना से भारत सरकार, राज्य सरकारें और 130 करोड़ देशवासी, सभी ने लड़ाई लड़ी है.

राहुल गांधी के ‘सरेंडर मोदी’ वाले ट्वीट पर ये बोले शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी के ‘सरेंडर मोदी’ वाले ब्यान पर भी पलटवार किया है. अमित शाह ने कहा, “पार्लियामेंट होनी है, चर्चा होनी है तो आइए, करेंगे. 1962 से आजतक दो-दो हाथ हो जाएं. मगर जब देश के जवान संघर्ष कर रहे हैं, सरकार स्टैंड लेकर ठोस कदम उठा रही है उस वक्त ऐसे बयान नहीं देने चाहिए, जिससे पाकिस्तान या चीन को खुशी हो.”

शाह ने कहा कि ”कांग्रेस और राहुल को खुद इस बारे में सोचना चाहिए. उनकी इस बात को पाकिस्तान और चीन में लोग हैशटैग बनाकर इस्तेमाल कर रहे थे. कांग्रेस को इसके बारे में सोचना चाहिए कि उनकी पार्टी के नेता का हैशटैग चीन-पाकिस्तान को बढ़ावा देता है, वह भी ऐसे संकट के समय.”


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here