Home News Delhi Police DCP And ACP Tested Positive For Coronavirus- Ann

Delhi Police DCP And ACP Tested Positive For Coronavirus- Ann

0
0

नई दिल्ली जिले के डीसीपी और एसीपी से पहले नॉर्थ जिले की डीसीपी मोनिका भारद्वाज और शाहदरा जिले के एडिशनल डीसीपी रोहित राजबीर भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, लेकिन दोनों कोरोना को मात देकर वापस ड्यूटी पर आ गए हैं.

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस लगातार कोरोना काल में लोगों की मदद कर रही है. संकट की इस घड़ी में पुलिस का एक मानवीय चेहरा सामने आया है. जिसमें पुलिस की सराहना भी की जा रही है, लेकिन इस मुश्किल समय में पुलिसकर्मी भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. नई दिल्ली जिले के डीसीपी ईश सिंगल और एसीपी ऑपरेशन को कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है. फिलहाल डीसीपी ईश सिंगल घर में ही क्वारंटीन है और उनके स्टाफ को भी क्वारंटीन होने के लिए भेज दिया गया है.

इससे पहले नॉर्थ जिले की डीसीपी मोनिका भारद्वाज और शाहदरा जिले के एडिशनल डीसीपी रोहित राजबीर भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, लेकिन दोनों कोरोना को मात देकर वापस ड्यूटी पर आ गए हैं. दिल्ली पुलिस में अब तक 700 से ज्यादा जवान ड्यूटी करते हुए कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं, जिनमें से अब कुछ ठीक भी हो गए हैं. ठीक होने के बाद पुलिसकर्मी अब अपना प्लाज़्मा डोनेट कर के दूसरे लोगों की जान बचा रहे हैं.

जो पुलिसकर्मी कोरोना से जंग जीत कर वापस आ गए हैं, वो अब अपना प्लाज़्मा डोनेट कर रहे हैं ताकि लोगों को इस खतरनाक बीमारी से बचाया जा सके.

दरसअल अमर कॉलोनी थाने के सब इंस्पेक्टर सचिन लोहिया, कॉन्स्टेबल प्रवीन, कॉन्स्टेबल ओम प्रकाश और कन्स्टेबल राय सिंह इन चारों ने प्लाज़्मा डोनेट कर लोगों की जान बचाई है. बल्कि यूं कहे की मानवता का परिचय दिया है. दरअसल ये चारों साउथ ईस्ट दिल्ली के अमर कॉलोनी पुलिस स्टेशन में तैनात हैं. ड्यूटी के दौरान ये चारों कोरोना पॉजिटिव हो गए थे. लेकिन इन्होंने हिम्मत नहीं हारी और कोरोना को मात देकर वापस ड्यूटी जॉइन कर ली. जब इनको ये जानकारी मिली कि इनके प्लाज़्मा डोनेट करने से किसी की जान बचाई जा सकती है, तो इन्होंने बिना देरी किए अपना प्लाज़्मा डोनेट किया और संकट के इस काल में लोगों की जान बचाई.

सब इंस्पेक्टर सचिन लोहिया ने बताया कि प्लाज़्मा डोनेट करने में इन्हें किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हुई. बल्कि इन्हें इस बात की खुशी है कि इनकी वजह से एक शख्स की जान बच गई. सचिन का कहना है कि ये एक बार फिर प्लाज़्मा डोनेट करने के लिए तैयार हैं.

दरअसल दिल्ली पुलिस ने अपना एक ग्रुप बनाया हुआ है. उसी ग्रुप से इन्हें जानकारी मिली कि प्लाज़्मा देकर लोगों की जान बचाई जा सकती है और ग्रुप के ही माध्यम से इन्हें पता चला कि प्लाज़्मा कहां और किसे देना है. इसके बाद इन चारों ने अस्पताल में जाकर प्लाज़्मा डोनेट किया और लोगों की जान बचाई. इन सभी का कहना है कि प्लाज़्मा डोनेट करने से कोई कमजोरी नहीं आती है और ना ही कोई खतरा होता है. पुलिसकर्मियों की लोगों से अपील है कि जो भी कोरोना की जंग जीत कर ठीक हो गए हैं, वो सभी अपना प्लाज़्मा डोनेट करें. इन चारों के इस काम को दिल्ली पुलिस कमिश्नर और साउथ ईस्ट के डीसीपी आर पी मीणा ने खूब सराहा है और इन सभी की पीठ भी थपथपाई.

ये भी पढ़ें:

पीएम मोदी ने कहा- न कोई हमारी सीमा में घुसा, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है 

सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूछे कई तीखे सवाल  


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here