Home News Family Convert Bedroom Into A Medical Room In Their Home In Mumbai...

Family Convert Bedroom Into A Medical Room In Their Home In Mumbai ANN

0
0

कोरोना का केंद्र बने मुंबई में मरीजों को अस्पताल में दाखिला लेने में काफी दिक्कतें आ रही हैं. इस समस्या का समाधान एक परिवार ने अपने घर में मेडिकल रूम बनाकर कर दिया.

मुंबई: कोरोना का केंद्र बन चुकी मुंबई में मरीजों को अस्पतालों में बेड मिलने में दिक्कत हो रही है. वहीं कोरोना केस के अलावा दूसरे मरीजों को ऑक्सीजन युक्त बेड या आईसीयू जैसी सुविधा मिलने में भी परेशानियां हो रही हैं. अब ऐसे मरीजों के परिजन अपने घर के बेडरूम को ही ऑक्सीजन युक्त मेडिकल रूम बना रहे हैं.

मुंबई सेंट्रल इलाके में रहने वाले सलीम मोटरवाला का परिवार अस्पतालों में बेड ना होने से काफी परेशान था. सलीम की भाभी को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, जिसके चलते परिवार ने तय किया कि वो घर में खुद ही ऑक्सीजन सिलेंडर लाकर अपनी भाभी का इलाज कराएंगे.

सलीम ने बताया कि उनकी भाभी को पिछले कुछ दिनों से सांस लेने में दिक्कत हो रही थी. उन्होंने अस्पतालों से संपर्क किया , हेल्पलाइन नंबर से संपर्क किया ताकि अस्पताल में उन्हें एडमिशन मिल सके, लेकिन ऑक्सीजन बेड खाली नहीं होने के चलते सलीम की भाभी का इलाज अस्पताल में होना मुमकिन नहीं था, जिसके बाद सलीम के भतीजे हमजा और सलीम ने मिलकर डॉक्टर से संपर्क किया और फिर खुद ही 6000 रुपये किराए पर ऑक्सीजन सिलेंडर घर ले आये.

हमजा ने ऑक्सीजन सिलेंडर को पेशेंट को कैसे लगाते हैं ? ऑक्सीजन कितने पैमाने पर छोड़ा जाए और अन्य मेडिकल की जानकारी डॉक्टर से सीखी और खुद ही अपनी मां का इलाज पिछले एक हफ्ते से अधिक समय से कर रहे हैं.

हमजा ने बताया कि डॉक्टर ने उन्हें कोरोना संक्रमण की जांच कराने के लिए भी कहा था, लेकिन लक्षण ज्यादा नहीं होने के चलते परिवार ने अभी कोरोना की जांच नहीं कराई है और अब पेशेंट की तबीयत भी धीरे-धीरे ठीक हो रही है, जो ऑक्सीजन लेवल पहले 83 पॉइंट तक गया था वह अब 98 तक पहुंच चुका है, जो एक स्वस्थ व्यक्ति का ऑक्सीजन पैमाना होता है.

ऑक्सिजन युक्त बेड की कमी को देखते हुए इलाके के कांग्रेस विधायक अमीन पटेल ने बताया की ऑक्सीजन सिलेंडर का बैंक बनाने को लेकर तैयारी शुरू की है. करीब 200 ऑक्सीजन सिलेंडर का बैंक तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि जिन लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत है, उनकी मदद की जा सके.

हमजा ने बताया की अब आने वाले दिनों में ये लोग दूसरों की भी मदद करने की शुरुआत करेंगे, ताकि अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड नहीं होने की वजह से किसी की मौत ना हो. इतना ही नहीं सलीम और उनके साथियों ने तय किया है कि साउथ मुंबई खासतौर पर डोंगरी, अग्रिपाड़ा, भिंडी बाजार जैसे इलाकों में जिन लोगों की तबीयत खराब है और उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत है, वह इन लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराएंगे. सिलेंडर का जो किराया है वह लोगों से नहीं लिया जाएगा, लेकिन अगर वह 1 दिन से ज्यादा सिलेंडर अपने घर पर रखते हैं, तो ऑक्सीजन रीफिल का चार्ज 200 से 300 रुपये उनसे लिया जाएगा या फिर उन्हें ऑक्सीजन कैसे और कहां रीफिल कराना है,  इसकी जानकारी दी जाएगी.

मुंबई: बीजेपी ने लगाया बीकेसी के क्वारंटीन सेंटर में गड़बड़ी का आरोप, बीएमसी ने ट्वीट कर दी सफाई


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here