Home News Gujarat Govt Panel Of Experts Has No Answer For High Mortality Rate...

Gujarat Govt Panel Of Experts Has No Answer For High Mortality Rate | पहले से अन्य बीमारियों से ग्रस्त होने, देरी से इलाज के कारण गुजरात में बढ़ रही है मृत्यु दर

1
0

गुजरात में कोरोना संक्रमण के 480 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 20 हजार के पार हो गई है. इसके अलावा 30 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 1249 पहुंच गई है.

गांधीनगर: गुजरात सरकार का कहना है कि कोरोना वायरस से संक्रमित हुए मरीजों के पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त होने और चिकित्सकीय उपचार प्राप्त करने में देरी अहमदाबाद और राज्य के शेष हिस्से में अधिक मृत्युदर के लिए जिम्मेदार है. एक वरिष्ठ नौकरशाह ने बताया कि गुजरात में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की मृत्युदर देश में सर्वाधिक है. राज्य में मृत्युदर 6.22 प्रतिशत है और अहमदाबाद में यह दर और भी अधिक 7.2 प्रतिशत है.

गुजरात में कोरोना संक्रमण के 480 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 20 हजार के पार हो गई है. इसके अलावा 30 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 1249 पहुंच गई है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी है. विभाग के मुताबिक राज्य में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 20,097 है.

“संक्रमित मरीजों में से 84% अन्य बीमारियों से भी पीड़ित”

राज्य प्रधान सचिव (स्वास्थ्य) जयंती रवि ने मीडिया से कहा, “गुजरात में संक्रमित मरीजों में से 84 प्रतिशत मरीज अन्य बीमारियों से भी पीड़ित हैं. उन मरीजों के मरने की दर अधिक है जिनकी रोग प्रतिरोधी क्षमता कमजोर है.”

रवि ने कहा, “इन समूहों में 65 साल से अधिक आयु के बुजुर्ग, 10 साल से कम आयु के बच्चे और गर्भवती महिलाएं शामिल हैं. इन समूहों के अलावा उन मरीजों को भी अधिक खतरा है जो पहले से बीमार हैं. इसका एक अन्य कारण मरीजों का चिकित्सकीय उपचार के लिए देरी से पहुंचना है.”

भारत में कोरोना वायरस से होने वाली मृत्यु दर 2.82 फीसदी

भारत में कोविड-19 के मामले में मृत्यु दर 2.82 प्रतिशत है जो दुनिया में सबसे कम है जबकि वैश्विक मृत्यु दर 6.13 प्रतिशत है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 के मामलों में भारत में मृत्यु दर प्रति लाख जनसंख्या पर 0.41 प्रतिशत है जबकि वैश्विक स्तर पर यह 4.9 प्रतिशत है और यह दुनिया में सबसे कम है.

भारत में होने वाली हर दो कोविड-19 मौत में से एक वरिष्ठ नागरिकों की है जो कुल आबादी का 10 प्रतिशत हैं. इसके साथ ही देश में कोविड-19 से हुई मौतों में 73 प्रतिशत लोग पहले से ही गंभीर रोग से पीड़ित थे.

ये भी पढें-

Unlock 1: नॉन कंटेनमेंट जोन में आज से खुले धार्मिक स्थल, होटल, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल, जानिए- किस राज्य में क्या हैं नियम?
बातचीत के महज 24 घंटे बाद चीन का प्रोपेगेंडा वीडियो, हुबेई प्रांत से भारतीय सीमा पर हजारों सैनिक तैनात करने का दावा


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here