Home News India’s unemployment rate in May rose to 23.48%, marginally lower from 23.52%...

India’s unemployment rate in May rose to 23.48%, marginally lower from 23.52% in April, according to CMIE | भारत की बेरोजगारी दर 31 मई को खत्म सप्ताह में 23.48% पर पहुंची, पिछले महीने की तुलना में कम हुई

2
0
India’s unemployment rate in May rose to 23.48%, marginally lower from 23.52% in April, according to CMIE | भारत की बेरोजगारी दर 31 मई को खत्म सप्ताह में 23.48% पर पहुंची, पिछले महीने की तुलना में कम हुई

 

  • 24 मई को खत्म हुए सप्ताह में बेरोजगारी दर 24.3% दर्ज की गई थी
  • 24 मई को खत्म हुए सप्ताह में श्रम भागीदारी दर 38.7 प्रतिशत थी

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 02:17 PM IST

नई दिल्ली. सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) की रिपोर्ट के मुताबिक 31 मई को खत्म हुए सप्ताह में भारत की बेरोजगारी दर 23.48% हो गई। ये अप्रैल में 23.52% से थोड़ी कम है। इससे पहले 24 मई को खत्म हुए सप्ताह में बेरोजगारी दर 24.3 प्रतिशत दर्ज की गई थी।

यह पूर्ववर्ती सप्ताह में दर्ज की गई 24.0 प्रतिशत बेरोजगारी दर से अधिक है। यह लॉकडाउन के दौरान के पिछले 8 सप्ताह में दौरान की औसतन 24.2 प्रतिशत बेरोजगारी दर से भी अधिक है। लॉकडाउन के दौरान बेरोजगारी दर 24 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है।

पिछले सप्ताह 38.7% रही श्रम भागीदारी दर
24 मई को खत्म हुए सप्ताह में श्रम भागीदारी दर 38.7 प्रतिशत थी। पूर्ववर्ती सप्ताह में यह 38.8 प्रतिशत से कम थी। श्रमिक भागीदारी दर में यह गिरावट तीन सप्ताह की निरंतर वृद्धि के बाद आती है। जबकि लॉकडाउन के दौरान बेरोजगारी दर लगभग 24 प्रतिशत स्थिर रही है। बेरोजगारी दर मार्च में 8.8 प्रतिशत से बढ़कर अप्रैल में 23.5 प्रतिशत हो गई थी।

2020 में लगातार बढ़ रही बेरोजगारी दर

indias may jobless rate at 2348 private think tank 1590998016

शहरी और ग्रामीण क्षत्रों में लगातार बेराजगारी दर बढ़ रही है। जनवरी 2020 में शहरी बेरोजगारी दर 9.70 फीसदी थी, जो मई में 16.09 फीसदी बढ़कर 25.79 फीसदी पर पहुंच गई। ठीक इसी तरह, जनवरी 2020 में ग्रामीण बेरोजगारी दर 6.06 फीसदी थी, जो मई में 16.42 फीसदी बढ़कर 22.48 फीसदी पर पहुंच गई।

अप्रैल में घटी थी एलपीआर
दूसरी ओर, श्रम भागीदारी दर मार्च में 41.9 प्रतिशत से 6.3 प्रतिशत घटकर अप्रैल में 35.6 प्रतिशत हो गई। श्रम भागीदारी दर (LPR) महीने में लगभग सप्ताह-दर-सप्ताह बढ़ रहा है। 17 मई को खत्म हुए सप्ताह के दौरान यह 38.8 प्रतिशत तक पहुंच गया। ऐसा लगता है कि तकनीकी रूप से अप्रैल में श्रम के एक बड़े हिस्सा ने बाजार को छोड़ दिया था, वो वापस लौट रहा है।

सीएमआईई के उपभोक्ता पिरामिड घरेलू सर्वेक्षण की जानकारी के मुताबिक अप्रैल में श्रम बल 68 मिलियन गिरकर 437 मिलियन तक पहुंच गया, जो अप्रैल में 2019-20 में 369 मिलियन हो गया था। इन 68 मिलियन ने सक्रिय रूप से नौकरियों की तलाश बंद कर दी थी। रोचक बात ये है कि उन्होंने नौकरियों में रुचि नहीं दिखाई।

नौकरी पर लौटे 2 करोड़ लोग

indias may jobless rate at 2348 private think tank 1590998029

सीएमआईई की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन को आसान करने के बाद मई में लगभग 20 मिलियन (2 करोड़) लोग नौकरी पर वापस लौटे हैं। जिससे भारत की रोजगार दर मई में 2% बढ़कर 29% पर पहुंच गई, जो अप्रैल में 27% थी। CMIE के अनुमान के मुताबिक 25 मार्च शुरू हुए लॉकडाउन की वजह से देश के 122 मिलियन (करीब 12.20 करोड़) लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। CMIE के अनुसार, मई में सप्ताह के बाद श्रम भागीदारी दर (LPR) बढ़ रही है, 17 मई को खत्म हुए सप्ताह में ये 38.8% रही थी।

देश में कोरोना का असर
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1,90,622 हो गई है। इनमें 93,348 की रिपोर्ट पॉजीटिव है। वहीं 91,855 संक्रमित ठीक हो गए हैं। देश में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 5,408 हो चुकी है। ये आंकड़े covid19india.org के अनुसार हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here