Home News QS world rankings 2021 iit bombay concerned after its ranking slip down...

QS world rankings 2021 iit bombay concerned after its ranking slip down – QS World University Ranking 2021: टॉप 500 में भारत के 8 इंस्टीट्यूट, रैंक में गिरावट पर IIT बॉम्बे चिंतित

5
0

QS World University Ranking 2021: टॉप 500 में भारत के 8 इंस्टीट्यूट, रैंक में गिरावट पर IIT बॉम्बे चिंतित

IIT बॉम्बे की रैंक में गिरावट आई है.

नई दिल्ली:

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 (QS World University Ranking 2021) में भारत के 8 शिक्षण संस्थान ही टॉप 500 में जगह बना पाए हैं. इस लिस्ट में भारतीय संस्थानों में आईआईटी ने दबदबा कायम किया है, जबकि बेंगलुरु का इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस भी जगह बनाने में कामयाब रहा है. हालांकि, पूरी लिस्ट के हिसाब से देखा जाए तो इंडियन इंस्टीट्यूट्स की रैंकिंग में गिरावट आई है. आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) यूं तो भारतीय इंस्टीट्यूट में पहले नंबर पर रहा है, लेकिन पूरी दुनिया में उसकी रैंकिंग में गिरावट आई है. 

आईआईटी बॉम्बे को 2020 लिस्ट में 152वीं रैंक पर रखा गया था, जबकि 2021 की रैंकिंग में वह खिसकर 172वें स्थान पर पहुंच गया है. आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) के अलावा टॉप 500 में भारत की तरफ से इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (रैंक-185), आईआईटी दिल्ली (रैंक-193), आईआईटी मद्रास (रैंक-275), आईआईटी खड़गपुर (रैंक-314), आईआईटी कानपुर (रैंक-350), आईआईटी रुड़की (रैंक-383) और आईआईटी गुवाहाटी (रैंक-470) शामिल हैं. यानी भारत के आठ इंस्टीट्यूट्स में आईआईटी बॉम्बे की रैंकिंग सबसे बेहतर है. 

रैंकिंग में गिरावट से खुश नहीं आईआईटी बॉम्बे

भले ही भारत में आईआईटी बॉम्बे ने टॉप किया हो, लेकिन वर्ल्ड में अपनी रैंक गिरने पर आईआईटी बॉम्बे ने चिंता जाहिर की है. आईआईटी बॉम्बे के डायरेक्टर प्रोफेसर सुहासिस चौधरी ने कहा कि भारत में टॉप रहना खुशी की बात है लेकिन ग्लोबली रैंक गिरना चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि इससे आईआईटी (IIT) की छवि पर असर पड़ेगा. आईआईटी की तरफ से जारी बयान में ये भी कहा गया कि EWS कोटे के तहत लिए गए छात्रों के चलते स्टूडेंट और फैकल्टी के अनुपात में कमी आई है, रैंकिंग में आये बदलाव की यह भी वजह हो सकती है. 

AMU-BHU लिस्ट में काफी नीचे

आठ इंस्टीट्यूट्स के अलावा दिल्ली यूनवर्सिटी को 501 से 510 के पॉकेट में जगह मिली है. जबकि आईआईटी हैदराबाद इससे भी नीचे है और उसे विश्व में 650वीं रैंक मिली है. इनके अलावा जादवपुर यूनिवर्सिटी, सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद टॉप 700 में शामिल हैं. 

जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी 751-800 के बीच रैंक हासिल कर पाई है, जबकि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी टॉप 1000 में भी मुश्किल से ही स्थान पा सकी है. एएमयू (AMU) के साथ 801-1000 के पॉकेट में अमृता विश्व विद्यापीठम, अन्ना यूनिवर्सिटी, बीएचयू और यूनिवर्सिटी ऑफ कलकत्ता को जगह मिली है. 

बता दें कि उच्च शिक्षा कंसल्टेंसी QS (Quacquarelli Symonds) हर साल दुनिया की 1000 यूनिवर्सिटी की रैंकिंग जारी करती है. हालांकि, ताजा लिस्ट में क्यूएस ने 1029 यूनिवर्सिटी को अपनी लिस्ट में जगह दी है. 

वर्ल्ड में कौन नंबर वन

QS रैंकिंग में अमेरिका का दबदबा कायम है. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) को टॉप 500 में पहली रैंक मिली है. यानी एमआईटी दुनिया का सबसे बेहतर इंस्टीट्यूट माना गया है. MIT के बाद स्टैनफोर्ड को दूसरी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी को तीसरी रैंक मिली है.


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here