Home News WHO Expresses Concern Over Religious Events Amid Corona Epidemic, Says It Increases...

WHO Expresses Concern Over Religious Events Amid Corona Epidemic, Says It Increases Risk Of Virus Outbreak | कोरोना महामारी के बीच धार्मिक आयोजनों पर WHO ने जताई चिंता, कहा

2
0

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में जारी है. इस महामारी से लाखों लोगों की जान जा चुकी है. हर दिन के साथ मामले बढ़ते जा रहे हैं. इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चिंता जताई है. WHO ने कहा कि ”धार्मिक या सांस्कृतिक आयोजन होने की वजह से कोरोना मामलों में दोबारा इजाफा होता देखा गया है.” आगे भी फैलने की आशंका है.

WHO ने कहा कि ज्यादा आबादी वाले देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने के कारण रोजाना रिकॉर्ड संख्या में मामले सामने आ रहे हैं. साथ ही यह वायरस की वैश्विक गतिविधि में बदलाव को दर्शाता हैं.

संगठन के आपात स्थिति के प्रमुख माइकल रयान ने सोमवार को मीडिया को बताया कि मामले इस लिए बढ़ रहे है, क्योंकि महामारी एक ही समय पर कई ज्यादा आबादी वाले देशों में फैल रही है. रयान ने इस बात को भी खारिज किया कि ज्यादा जांच करने से मामले बढ़ रहे हैं.

मामले में बढ़ोतरी का कारण अधिक जांच होने बताया था भारत-अमेरिका समेत कई देशों ने

गौरतलब है कि भारत और अमेरिका समेत कुछ देशों ने संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी का कारण अधिक जांच करने को बताया है. उन्होंने कहा, “हम नहीं मानते हैं कि यह जांच करने की वजह से हो रहा है.“ रयान ने यह भी कहा कि कई देशों में अस्पताल में भर्ती किए जाने वाले मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है और मृतकों के आंकड़ों में इजाफा हुआ है.

उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से वायरस ने अपने पैर जमा लिए हैं. महामारी कई बड़े देशों में बढ़ रही है. रयान ने यह भी कहा कि अमेरिका, अन्य दक्षिण एशिया, पश्चिम एशिया और अफ्रीका में हालात खराब हो रहे हैं.

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा था- हम नए और खतरनाक चरण में हैं

डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस अधानम गेब्रेयेसस ने कहा था कि नए मामलों में से लगभग आधे उत्तर और दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप से हैं. दक्षिण एशिया और पश्चिम एशिया से भी मामले काफी संख्या में हैं.

उन्होंने कहा था, ‘‘हम नए और खतरनाक चरण में हैं. महामारी को रोकने के लिए प्रतिबंधात्मक कदमों की अब भी आवश्यकता है. अनेक लोग घर में रहने से निराश हैं और देश अपने समाजों को खोलने के लिए उत्सुक हैं.’’

टेड्रोस ने कहा कि कहा कि वायरस अब भी ‘तेजी से फैल रहा है’ और फिज़िकल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने और हाथ धोने जैसे कदम अब भी महत्वपूर्ण हैं. उन्होंने कहा कि मृतक संख्या खास तौर पर शरणार्थियों में अधिक होगी जिनमें से 80 प्रतिशत से अधिक विकासशाील देशों में रहते हैं.

भक्तों की अनुपस्थिति में पहली बार निकाली गई भगवान जगन्नाथ की यात्रा

ओडिशा के पुरी में भक्तों की अनुपस्थिति में पहली बार भगवान जगन्नाथ और उनके भाई-बहनों की वार्षिक रथ यात्रा निकाली गई. सुप्रीम कोर्ट द्वारा जनता की उपस्थिति के बिना सीमित तरीके से इसे आयोजित करने के निर्देश के बाद वार्षिक उत्सव की शुरुआत की गई. पुजारियों ने भोर में ‘मंगल आरती’ का आयोजन किया. शंखनाद की ध्वनि, झांझ और ढोलक की थाप के साथ मंदिरों से देवताओं को रथ पर बिठाकर यात्रा की शुरुआत की गई.

भारत में कोरोना के मामले 4 लाख के पार

देशभर से 440215 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं. जिसमें से 248189 लोगों का कोरोना से इलाज सफल होने के बाद उन्हें घर भेजा जा चुका है. वहीं 178014 लोग अभी कोरोना से संक्रमित हैं. कोरोना के कारण देशभर में अबतक 14011 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

मैक्सिको में आया 7.4 तीव्रता का भूकंप, ग्वाटेमाला में सूनामी का जारी हुआ अलर्ट

अमेरिका, रूस के बीच परमाणु हथियारों को लेकर नई वार्ता, चीन को शामिल नहीं किया गया


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here