Home News Address Me as Sir and Not My Lord: Calcutta HC Chief Justice...

Address Me as Sir and Not My Lord: Calcutta HC Chief Justice – कलकत्ता हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस का पत्र-मुझे माय लॉर्ड के बजाय सर कहा जाए..

4
0

कलकत्ता हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस का पत्र-मुझे 'माय लॉर्ड' के बजाय 'सर' कहा जाए..

कलकत्ता हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश चाहते हैं, उन्‍हें ‘माय लॉर्ड’ के बजाय ‘सर’ कहकर पुकारा जाए

कोलकाता:

कलकत्ता हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश (Calcutta High Court Chief Justice) टीबीएन राधाकृष्णन ने कहा है कि वह चाहते हैं कि बंगाल और अंडमान के सभी न्यायपालिका अधिकारी उन्‍हें  ‘माय लॉर्ड’ या ‘लॉर्ड्सशिप’ के बजाय ‘सर’ कहकर संबोधित करें. गौरतलब है अदालतों में अब तक न्‍यायाधीशों के लिए अब तक ‘माय लॉर्ड’ या ‘लॉर्ड्सशिप’ जैसे संबोधन प्रचलन में हैं.

यह भी पढ़ें

एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में निचली अदालतों और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के जिला न्यायाधीशों और मुख्य न्यायाधीशों को लिखे गए पत्र में हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल राय चट्टोपाध्याय ने मुख्य न्यायाधीश के संदेश के बारे में जानकारी दी. पत्र में मुख्य न्यायाधीश टीबीएन राधाकृष्णन ने इच्छा जताई है कि “माननीय हाईकोर्ट की रजिस्ट्री के सदस्यों सहित जिला न्यायपालिका के अधिकारी उन्‍हें लागू न्यायिक और प्रशासनिक मिसालों के अनुरूप ‘माय लॉर्ड’ या ‘लॉर्ड्सशिप’  के बजाय ‘सर’ कहकर संबोधित करें.

 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here