Home News Centre announces Rs 346 Cr as first installment to tackle flood situation...

Centre announces Rs 346 Cr as first installment to tackle flood situation in Assam – केंद्र ने असम में बाढ़ की स्थिति से निपटने को 346 करोड़ रुपये जारी करने की घोषणा की

1
0

केंद्र ने असम में बाढ़ की स्थिति से निपटने को 346 करोड़ रुपये जारी करने की घोषणा की

असम में बाढ़ से करीब 56 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

गुवाहाटी:

असम में बाढ़ की स्थिति से निपटने के वास्ते केंद्र सरकार जल्द ही 346 करोड़ रुपये प्रारंभिक राशि के तौर पर जारी करेगी. पूर्वोत्तर के इस राज्य में बाढ़ से 56 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. यह जानकारी एक आधिकारिक बयान में बुधवार को दी गई. इसमें कहा गया कि केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक वीडियो-कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राज्य में बाढ़ की स्थिति पर असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के साथ विस्तृत चर्चा की. इस दौरान उन्होंने इस फैसले से मुख्यमंत्री को अवगत कराया.

यह भी पढ़ें

कोरोना संकट के बीच आई बाढ़ ने बढ़ाई चिंता, PM मोदी ने 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक बयान में कहा गया, ‘केंद्र सरकार बाढ़ प्रबंधन कार्यक्रम के तहत जल्द ही 346 करोड़ रुपये की पहली किस्त जारी करेगी.’ इसमें कहा गया है कि निचले असम के जिलों में बाढ़ के मुद्दे को सुलझाने के लिए केंद्र इस मामले को भूटान सरकार के साथ भी उठाएगा. मॉनसून के दौरान, भूटान में बांधों से अतिरिक्त पानी छोड़ने से असम के सभी निचले जिलों, खासकर बारपेटा, नलबाड़ी और कोकराझार के इलाकों में बाढ़ आ जाती है.

काजीरंगा नेशनल पार्क के लिए जानवरों की मौत के बावजूद भी सालाना बाढ़ क्यों है जरूरी?

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार, इस साल अब तक बाढ़ और भूस्खलन में 115 लोगों की जान चली गई है. इनमें से 89 लोगों की मौत बाढ़ से संबंधित घटनाओं में और 26 लोगों की मौत भूस्खलन के कारण हुई है. एएसडीएमए ने कहा कि असम में बाढ़ की स्थिति और भी खराब हो गई है और इसमें दो और व्यक्तियों की मौत हो गई है. वहीं 26 जिलों में 26 लाख से अधिक लोग अभी भी प्रभावित हैं. इस साल राज्य में कुल मिलाकर लगभग 56 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.  

VIDEO: ब्रह्मपुत्र को बांधने के खेल में है असम की बाढ़ का कारण


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here