Home News Gangster Vikas Dubey arrest in ujjain raises many questions, 10 points –...

Gangster Vikas Dubey arrest in ujjain raises many questions, 10 points – मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन से गिरफ्तार गैंगस्‍टर विकास दुबे को यूपी पुलिस को सौंपा गया, 10 खास बातें..

5
0

मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन से गिरफ्तार गैंगस्‍टर विकास दुबे को यूपी पुलिस को सौंपा गया, 10 खास बातें..

विकास दुबे को मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन से गिरफ्तार किया गया


Vikas Dubey Arrest: कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी दुर्दांत गैंगस्‍टर विकास दुबे की मध्‍यप्रदेश की पुलिस ने गुरुवार सुबह उज्‍जैन से गिरफ्तार कर लिया. हालांकि जिस नाटकीय अंदाज में विकास की गिरफ्तारी हुई है, उसे लेकर विपक्षी दल के नेता सवाल उठा रहे हैं. यह भी आरोप लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी से ‘कनेक्‍शन’ के चलते विकास को एनकाउंटर से बचाने के लिए अरेस्‍ट की ‘प्‍लानिंग’ की गई.

इस बहुचर्चित मामले से जुड़ी 10 बातें..

  1. यूपी के कानपुर में पिछले हफ्ते आठ पुलिसकर्मियों (Kanpur Police Murder Case) को घेरकर बेरहमी से हत्या करने के आरोपी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है. जानकारी के अनुसार, विकास दुबे उज्जैन के महाकाल में दर्शन के लिए गया था, तभी वहां के गार्ड ने पहचाना. जिसके बाद वहां की पुलिस एक्शन में आई और उसे वहीं धर लिया.विकास दुबे को बिना ट्रां‍जिट रिमांड के शाम को यूपी पुलिस को सौंप दिया गया है.उज्‍जैन में विकास के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया गया है.

  2. उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल (STF) का एक दल बृहस्पतिवार को उज्जैन पहुंचा और कुख्यात अपराधी विकास दुबे को अपनी हिरासत में ले लिया.एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया गया है और पुलिस दल उसे सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश ले गया है.”इससे पहले, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया था कि दुबे के साथ उसके दो साथियों बिट्टू और सुरेश को भी गिरफ्तार किया गया है और अब वह पुलिस की हिरासत में हैं.

  3. यूपी पुलिस के सस्पेंड पुलिस ऑफिसर विनय तिवारी को 8 जुलाई को गिरफ्तार किया था. गौरतलब है कि तिवारी पर विकास दुबे को पुलिस की दबिश की जानकारी देने का आरोप है. विनय तिवारी के जानकारी देने के बाद ही विकास दुबे ने 8 पुलिस के जवानों की बेरहमी से हत्या कर दी थी. विनय तिवारी, विकास दुबे के गांव के पुलिस थाने का इंचार्ज है. 

  4. विकास की तलाश में पुलिस ने बुधवार/गुरुवार को दो एनकाउंटर किए. एक कानपुर में और दूसरा इटावा में. इसमें दुबे के दो साथियों को ढेर कर दिया गया है. कानपुर पुलिस ने बताया है कि इस एनकाउंटर में दुबे के सहयोगी प्रभात मिश्रा की मौत हुई है, उसे अभी बुधवार को ही फरीदाबाद में गिरफ्तार किया गया था. पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी, जिस दौरान उसने पुलिस पर हमला करके भागने की कोशिश कर रहा था,जवाबी कार्रवाई में उसे गोली लगी, जिससे उसकी मौत हो गई. विकास दुबे के एक साथी श्यामू बाजपेयी बुधवार को कानपुर में पुलिस ने धर दबोचा था. उसके सिर पर 25 हजार रुपये का इनाम था. 

  5. यूपी पुलिस ने दूसरा एनकाउंटर इटावा में किया है. इसमें भी विकास का साथी मारा गया है. अपराधी पर 5,000 का इनाम था. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आकाश तोमर ने बताया, ‘तड़के सुबह 3 बजे के आसपास एक स्विफ्ट डिज़ायर को स्कॉर्पियो में बैठे चार हथियारबंद लोगों ने लूटा था. एक घंटे बाद पुलिस ने हथियारबंद लोगों को रोक लिया था. उन्होंने भागने की कोशिश की तो दोनों साइड से फायरिंग हुई. एक अज्ञात शख्स को कई गोलियां लगीं थीं. उसे अस्पताल लाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.’ बाद में उसकी पहचान विकास के साथी रणबीर के तौर पर की गई थी.

  6. इसके पहले पुलिस ने एक एनकाउंटर में विकास दुबे के अन्य साथी अमर दुबे को हमीरपुर में मार गिराया था. गांव से विकास दुबे, प्रभात और अमर दुबे साथ आए थे, लेकिन अमर वापस चला गया था.

  7. विकास दुबे को इससे एक दिन पहले दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में देखा गया था. लेकिन जब पुलिस वहां छापा मारने पहुंची तो वह वहां से निकल चुका था. कुख्यात अपराधी को पकड़ने में लगी स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने कंफर्म किया कि फरीदाबाद में जो शख्स सीसीटीवी में दिख रहा है वो विकास दुबे ही था. 

  8. फरीदाबाद में विकास दुबे के एक गुर्गे प्रभात, अंकुर और उसके पिता श्रवण को गिरफ्तार किया गया है. फरीदाबाद पुलिस ने उनका कोरोना का टेस्ट कराया तो श्रवण पॉजिटिव पाया गया. अंकुर और प्रभात निगेटिव आए थे.प्रभात बाद में कानपुर ले जाते समय भागने की कोशिश में मारा गया था. 

  9. हरियाणा से गैंगस्टर विकास दुबे मध्य प्रदेश की तरफ भाग निकला. जानकारी के अनुसार, वह राजस्‍थान के कोटा के रास्‍ते से एमपी में पहुंचा था.विकास दुबे का अच्‍छा खासा रसूख था. कई पार्टियों में भी वह रह चुका है. इस कारण यूपी के कई नेताओं से उसके संबंध हैं.

  10. कानपुर में विकास दुबे नाम के एक बदमाश को पकड़ने गई यूपी पुलिस टीम के 8 लोगों (डीएसपी स्तर के एक अधिकारी समेत, 3 सब इंस्पेक्टर, 4 सिपाही) ने जान गंवा दी थी. दरअसल कानपुर के बिकरु गांव में पुलिस विकास दुबे को पकड़ने गई थी. इस बात की जानकारी विकास दुबे और उसके कथित गैंग के लोगों को पता चल गई थी. उसके लोगों ने पूरी प्लानिंग के साथ गांव में घुसने वाले रास्ते में जीसीबी खड़ा कर रास्ता रोक दिया. तीन तरफ से हुई फायरिंग में सीओ देवेंद्र  मिश्रा, एसओ महेश यादव, चौकी इंचार्ज अनूप कुमार, सब इंन्पेक्टर, नेबुलाल, कांस्टेबल सुल्तान सिंह, राहुल, जितेन्द्र और बबलू को जान गंवानी पड़ी थी.


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here