Home News Test Vs Positivity Rate Explosive Situation In Maharashtra, Telangana, Delhi, Gujarat, Tamil...

Test Vs Positivity Rate Explosive Situation In Maharashtra, Telangana, Delhi, Gujarat, Tamil Nadu

3
0

Coronavirus: भारत में कोरोना वायरस के लिए जिस तेजी से टेस्टिंग बढ़ रही है, संक्रमितों का आंकड़ा भी उसी तेजी से बढ़ रहा है. देश में अबतक सवा करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग हो चुकी है. हर दिन तीन लाख से ज्यादा लोगों की टेस्टिंग की जा रही है. यही वजह है कि महाराष्ट्र, तेलंगाना, दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु में स्थिति विस्फोटक होती दिख रही है. वहीं बिहार, कर्नाटक में भी हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं. यहां कोरोना टेस्टिंग में पांच फीसदी से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं.

महाराष्ट्र

  • कुल टेस्टिंग- 14,13,185
  • पॉजिटिव केस- 280,751
  • पॉजिटिव रेट- 19.86%

तेलंगाना

  • कुल टेस्टिंग- 208,666
  • पॉजिटिव केस- 39,342
  • पॉजिटिव रेट- 18.85%

दिल्ली

  • कुल टेस्टिंग- 789,853
  • पॉजिटिव केस- 116,993
  • पॉजिटिव रेट- 14.81%

गुजरात

  • कुल टेस्टिंग- 487,707
  • पॉजिटिव केस- 44,648
  • पॉजिटिव रेट- 9.15%

तमिलनाडु

  • कुल टेस्टिंग- 17,36,747
  • पॉजिटिव केस- 151,280
  • पॉजिटिव रेट- 8.71%

इन पांच राज्यों के अलावा बिहार और कर्नाटक में भी हालत बिगड़ रहे हैं. बिहार में तीन लाख 37 हजार टेस्ट हुए हैं, जिसमें से 20 हजार कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. यानी कि 5.98 फीसदी मामले पॉजिटिव आए हैं. ऐसे ही कर्नाटक में भी 5.23 फीसदी मामले पॉजिटिव हैं.

कोरोना टेस्टिंग के लिए कुल 1105 लैब

भारत में कोरोना टेस्टिंग के लिए कुल 1105 टेस्टिंग लैब हैं, जिसमें से 788 सरकारी लैब हैं, जबकि 317 प्राइवेट लैब हैं. इन लैब में कोरोना की जांच के लिए आरटी पीसीआर, TrueNat और CBNAAT टेस्ट होते हैं.

देश में 23 जनवरी तक कोरोना वायरस के टेस्ट के लिए सिर्फ एक लैब थी. लेकिन आज भारत में 1105 लैब हैं, जहां कोरोना टेस्ट होता है. वहीं, हर दिन टेस्ट की संख्या भी काफी बढ़ी है. भारत सरकार ने कोविड-19 से निपटने के लिए टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट पॉलिसी बनाई है. इसलिए ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग की जा रही है.

अब तक देश में कोरोना के कुल 9,68,876 मामले सामने आए हैं. जिसमें से 3,31,146 एक्टिव पेशेंट हैं, जिनका इलाज चल रहा है. इस संक्रमण से अब तक 24,915 मरीजों की जान जा चुकी है. वहीं इस संक्रमण से अब तक 612,815 मरीज ठीक भी हुए हैं.

ये भी पढ़ें-




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here